Connect with us

Cybersecurity and Crypto Safety

ऑस्ट्रेलिया में बंद की जाएंगी क्रिप्टो स्कैम वेबसाइट्स

पिछले कुछ वर्षो में क्रिप्टो मार्केट में स्कैम या घोटालो के मामले बढ़े हैं. इससे निपटने के लिए ऑस्ट्रेलिया में स्कैम क्रिप्टो वेबसाइट्स को हटाया जाएगा.

Shalini Chaurasia

Published

on

australia bans crypto scam websites platforms4274619123350211753 scaled e1687138293949

इनवेस्टमेंट पर अधिक रिटर्न की पेशकश कर स्कैमर्स अपने शिकार को फंसाने की कोशिश करते हैं. वे अक्सर पेमेंट के लिए क्रिप्टोकरेंसीज का इस्तेमाल करते हैं

सारांश

  • कुछ स्कैमर्स जाली वेबसाइट्स बनाकर भी इनवेस्टर्स के साथ धोखाधड़ी करते हैं
  • सायबर अपराधों के खिलाफ सतर्कता की जरूरत बढ़ गई है
  • क्रिप्टोकरेंसीज को लेकर रेगुलेशंस की कमी है
Australia bans crypto scam platforms scam websites ऑस्ट्रेलिया में Crypto Currency स्कैम वेबसाइट पर प्रतिबंध
ऑस्ट्रेलिया में बंद की जाएंगी क्रिप्टो स्कैम वेबसाइट्स 35

क्रिप्टो स्कैमर्स अब ठगी के लिए LinkedIn को भी जरिया बना रहे हैं

पिछले कुछ वर्षो में क्रिप्टो मार्केट में स्कैम या घोटालो के मामले बढ़े हैं. इससे निपटने के लिए ऑस्ट्रेलिया में स्कैम क्रिप्टो वेबसाइट्स को हटाया जाएगा.

ऑस्ट्रेलियन कॉम्पिटिशन एंड कंज्यूमर कमीशन (ACCC) ने इसके लिए इंग्लैंड की इंटरनेट सर्विसेज फर्म Netcraft को हायर किया है. यह फर्म ऐसी संदिग्ध वेबसाइट्स की पहचान करेगी. इसके बाद इन वेबसाइट्स को हटाया जाएगा.

ACCC ने पिछले महीने एक रिपोर्ट में बताया था कि इस वर्ष ऑस्ट्रेलिया के लोगों को क्रिप्टो स्कैम्स में लगभग 8.15 करोड़ डॉलर का नुकसान हो चुका है. इससे सायबर अपराधों के खिलाफ सतर्कता की जरूरत बढ़ गई है. ACCC की प्रमुख Gina Cass Gottlieb ने एक स्टेटमेंट में बताया,

cryptocurrency pandit whatsapp Whatsapp GroupJoin Now
cryptocurrency pandit telegram Telegram ChannelJoin Now
cryptocurrency pandit discord Discord ServerJoin Now
cryptocurrency pandit facebook Facebook PageLike Page
cryptocurrency pandit youtube Youtube ChannelSubscribe

“पहले हमें स्कैमर्स को लोगों तक पहुंचने से रोकना होगा. इसके लिए उन जरियों की स्क्रूटनी बढ़ाने की जरूरत है जिनसे वे शिकार बनाने के लिए लोगों से संपर्क करते हैं. इनमें फोन कॉल्स, SMS, सोशल मीडिया और ईमेल शामिल हैं. इसके साथ ही हमें लोगों को यह जानकारी देनी होगी कि अगर कोई स्कैमर उनसे संपर्क करता है और वह उसकी पहचान कर सकें.” 

Gina Cass Gottlieb

इनवेस्टमेंट पर अधिक रिटर्न की पेशकश कर स्कैमर्स अपने शिकार को फंसाने की कोशिश करते हैं. वे अक्सर पेमेंट के लिए क्रिप्टोकरेंसीज का इस्तेमाल करते हैं.

क्रिप्टोकरेंसीज को लेकर रेगुलेशंस की कमी और इनसे जुड़ी ट्रांजैक्शंस को ट्रैक करना बहुत मुश्किल होने के कारण स्कैमर्स के लिए यह पेमेंट हासिल करने का आसान तरीका है.

कुछ स्कैमर्स जाली वेबसाइट्स बनाकर भी इनवेस्टर्स के साथ धोखाधड़ी करने की कोशिश करते हैं.

क्रिप्टो स्कैमर्स अब ठगी के लिए LinkedIn को भी जरिया बना रहे हैं. ये प्रोफेशनल फाइनेंशियल एडवाइजर्स के तौर पर खुद को पेश कर LinkedIn यूजर्स से संपर्क कर रहे हैं. इन यूजर्स को स्कैम वाली स्कीम्स की पेशकश की जा रही है. 

ठगी के इस तरीके में स्कैमर्स शुरुआत में LinkedIn यूजर्स को इनवेस्टमेंट पर एडवाइज देकर उनका विश्वास हासिल करने की कोशिश करते हैं. कुछ महीने बाद यूजर्स को स्कैमर्स की ओर से चलाई जा रही साइट्स में इनवेस्टमेंट करने के लिए कहा जाता है.

LinkedIn ने एक रिपोर्ट में बताया है कि उसने ऑटोमेटेड तरीकों के जरिए पिछले वर्ष जुलाई से दिसंबर के बीच स्पैम और स्कैम्स में से लगभग 99.1 प्रतिशत को पकड़ लिया था.  

शालिनी चौरसिया एक क्रिप्टो कंटेंट राइटर है, Shalini Cryptocurrency Pandit की सह संस्थापक हैं इनके पास इस क्षेत्र में दो साल से अधिक का अनुभव है। लेखन और अनुसंधान के जुनून के साथ, शालिनी ने अपने गहन विश्लेषण और जटिल विषयों की स्पष्ट व्याख्या के साथ क्रिप्टो समुदाय में अपना नाम बनाया है।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Crypto News

OctaFX पे सर्जिकल स्ट्राइक: ED ने अवैध ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए OctaFX के बैंक खाते से 21.14 करोड़ रुपये फ्रीज किया

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने OctaFX और उससे संबंधित संस्थाओं के बैंक खाते की शेष राशि को विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के तहत अंतरराष्ट्रीय दलालों के माध्यम से अवैध ऑनलाइन विदेशी मुद्रा व्यापार के मामले में 21.14 करोड़ की राशि को फ्रिज किया है।

Shalini Chaurasia

Published

on

ईडी ED ने अवैध ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए OctaFX के बैंक खाते को फ्रीज किया

OctaFX News :- प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने OctaFX और उससे संबंधित संस्थाओं के बैंक खाते की शेष राशि को विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के तहत अंतरराष्ट्रीय दलालों के माध्यम से अवैध ऑनलाइन विदेशी मुद्रा व्यापार के मामले में 21.14 करोड़ की राशि को फ्रिज किया है। आज हम जानेंगे octafx legal or illegal in india, is octafx sebi registered is octafx legal in india 2022 octafx india office rbi approved forex broker in india, why octafx is not banned in india, octafx legal in india in hindi, is octafx copy trading legal in india

क्या हैं मामला

भारतीय रिजर्व बैंक ने बुधवार को एक ‘अलर्ट लिस्ट’ जारी की थी जिसमें OctaFX सहित 34 संस्थाओं के नाम थे, जो देश में फॉरेक्स में डील करने और इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म को संचालित करने के लिए अधिकृत नहीं हैं।

इससे पहले, ईडी ने फेमा के नियमों के अनुसार कई OctaFX India Private Ltd और इंटरनैशनल ब्रोकर्स के माध्यम से अवैध ऑनलाइन फॉरेक्स ट्रेडिंग, जैसे OctaFX ट्रेडिंग ऐप और वेबसाइट www.octafx.com के मामले में संबद्ध व्यवसायों की तलाशी ली थी।

अलर्ट सूची में अल्पारी, हॉटफोरेक्स और ओलंप ट्रेड भी शामिल थे। एक बयान में, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कहा कि निवासी व्यक्ति FEMA के संदर्भ में केवल अधिकृत व्यक्तियों के साथ और अनुमत उद्देश्यों के लिए विदेशी मुद्रा लेनदेन कर सकते हैं।

cryptocurrency pandit whatsapp Whatsapp GroupJoin Now
cryptocurrency pandit telegram Telegram ChannelJoin Now
cryptocurrency pandit discord Discord ServerJoin Now
cryptocurrency pandit facebook Facebook PageLike Page
cryptocurrency pandit youtube Youtube ChannelSubscribe

क्यों है निशाने पर OctaFX ?

OctaFX का सोशल नेटवर्किंग साइटों पर भारी मार्केटिंग किया जाता है और अपने प्लेटफार्मों पर ग्राहकों को लाने के लिए रेफरल-आधारित प्रोत्साहन संरचनाओं का उपयोग करता है। यह पता चला है कि उपयोगकर्ताओं से पैसा इकट्ठा किया जाता है और नकली संगठनों के माध्यम से फ़नल किया जाता है, आमतौर पर यूपीआई या स्थानीय बैंक लेनदेन के माध्यम से।

यह भी पढ़े :-

Trust Wallet Kya Hai? ट्रस्ट वॉलेट क्या हैं, यह कैसे काम करता हैं ?

Crypto Income Tax: इन निवेशकों का अब कटेगा TDS, इतने ट्रांजेक्शन पर देना होगा टैक्स, जानिए Crypto Tax Provisions

इन निवेशकों और उपयोगकर्ताओं के साथ धोखाधड़ी करने के बाद, एकत्रित नकदी को एक ही समय में कई ई-वॉलेट खातों जैसे कि नेटेलर, स्क्रिल, या नकली इकाई बैंक खातों में स्थानांतरित कर दिया गया था। इसके अलावा, इस ट्रेडिंग ऐप पर कपटपूर्ण राशि का एक महत्वपूर्ण हिस्सा Zanmai Labs Pvt. Ltd. के माध्यम से क्रिप्टोकरेंसी और अन्य संपत्ति हासिल करने के लिए उपयोग किया गया था।

ज्ञात रहे Zanmai Labs Pvt. Ltd. भारतीय एक्सचेंज WazirX की पैरेंट कंपनी हैं !


Zanmai Labs Pvt. Ltd. वज़ीरक्स वॉलेट में भारतीय रुपये जमा करने के लिए बैंकिंग चैनल और एक पुल का काम करता है, जिसे बाद में Binance एक्सचेंज (केमैन द्वीप में स्थित एक क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज) में स्थानांतरित कर दिया जाता हैं !, जिसके परिणामस्वरूप क्रिप्टोकरेंसी के रूप में विदेशी कंपनियों को भारतीय नकदी का हस्तांतरण होता । ईडी ने एक बयान में कहा, “आगे की जांच जारी है।” (एएनआई)

ईडी ED ने अवैध ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए OctaFX के बैंक खाते को फ्रीज किया
Octafx-bank-frozen-india-RBI-ED

OctaFX ट्रेड के लिए अनधिकृत

प्रवर्तन निदेशालय ने कहा

उक्त ऐप (OctaFX) और इसकी वेबसाइट को फॉरेक्स ट्रेडिंग में डील करने के लिए RBI (भारतीय रिजर्व बैंक) द्वारा अधिकृत नहीं किया गया है। विदेशी मुद्रा व्यापार का संचालन और संचालन (मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज पर नहीं किया जा रहा है) अवैध है, और फेमा विनियमों का भी उल्लंघन करता है

यदि निवासी व्यक्ति फेमा के तहत अनुमत उद्देश्यों के अलावा अन्य उद्देश्यों के लिए विदेशी मुद्रा लेनदेन करते हैं तो फेमा के तहत कानूनी कार्रवाई होगी। यदि विदेशी मुद्रा लेनदेन इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म (ईटीपी) पर किए जाते हैं जो केंद्रीय बैंक द्वारा अधिकृत नहीं हैं, तो कानूनी कार्रवाई भी उत्तरदायी होगी। केंद्रीय बैंक ने कहा कि उसे कुछ ईटीपी की प्राधिकरण स्थिति पर स्पष्टीकरण मांगने के संदर्भ प्राप्त हो रहे हैं।

एक बयान में, आरबीआई ने कहा,

“इसलिए, आरबीआई की वेबसाइट पर उन संस्थाओं की ‘अलर्ट सूची’ डालने का निर्णय लिया गया है जो न तो विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 (फेमा) के तहत विदेशी मुद्रा में सौदा करने के लिए अधिकृत हैं और न ही विदेशी मुद्रा लेनदेन के लिए इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म संचालित करने के लिए अधिकृत हैं ।”

सूची में उन संस्थाओं के नाम भी शामिल हैं जो इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म (रिज़र्व बैंक) निर्देश, 2018 के तहत विदेशी मुद्रा लेनदेन के लिए न तो अधिकृत हैं और न ही विदेशी मुद्रा लेनदेन के लिए ईटीपी के लिए अधिकृत हैं।

कौन से Apps Illegal हैं फोरेक्स ट्रेड के लिए ?


अन्य नाम जिन्हें लाल सूची में शामिल किया गया है, वे हैं फॉरेक्स4मनी, ईटोरो, एफएक्ससीएम, एनटीएस फॉरेक्स ट्रेडिंग, अर्बन फॉरेक्स और एक्सएम। बैंक ने कहा, “सूची में नहीं आने वाली इकाई को आरबीआई द्वारा अधिकृत नहीं माना जाना चाहिए।”

ईडी ED ने अवैध ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए OctaFX के बैंक खाते को फ्रीज किया
Octafx-illegal-online-trading

आरबीआई ने कहा,

“जनता के सदस्यों को एक बार फिर आगाह किया जाता है कि वे अनधिकृत ईटीपी पर विदेशी मुद्रा लेनदेन न करें या इस तरह के अनधिकृत लेनदेन के लिए धन जमा न करें/ ना भेजे ।”

सेबी के अनुसार फोरेक्स ट्रेडिंग किस प्लेटफार्म पे किया जाये ?

सेबी द्वारा अनुमोदित प्लेटफॉर्म्स जैसे एंजेल ब्रोकिंग , मोतीलाल ओसवाल , कार्वी, ज़ेरोधा और कोटक इत्यादि हैं !

  1. क्या Octafx सेबी में पंजीकृत हैं ?

    Absolutely not ! नियम के अनुसार एक भारतीय नागरिक केवल ब्रोकर प्लेटफॉर्म पर व्यापार कर सकता है जो सेबी और आरबीआई द्वारा अनुमोदित हैं और केवल INR जोड़े जैसे USDINR, JPYINR, EURINR में व्यापार कर सकते हैं।

  2. Octafx legal or illegal in india ?

    OctaFX भारत में अवैध हैं इस पर ट्रेडिंग यूजर अपने रिस्क पर करता हैं ! उन प्लेटफार्मों पर व्यापार करना अवैध है जो सेबी या आरबीआई द्वारा अनुमोदित नहीं हैं। फेमा अधिनियम के तहत भारत में Non INR विदेशी मुद्रा पेअर का व्यापार करना अवैध है।

  3. OctaFX के सीईओ कौन हैं?

    Georgios D. Pantzis

  4. क्या OctaFX हलाल है?

    100% शरिया अनुपालन; सभी प्रकार के खातों के लिए उपलब्ध; आसान एक-क्लिक पंजीकरण; कोई दस्तावेज या अन्य पहचान प्रमाण की आवश्यकता नहीं है।

Continue Reading

Altcoin News

पढ़िए पूरी कहानी पहले क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग की | इशान वाही, निखिल वाही गिरफ्तार, समीर रमानी फरार, 8 करोड़ का घोटाला

पढ़िए पूरी कहानी पहले क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग की | इशान वाही, निखिल वाही गिरफ्तार, समीर रमानी फरार
दोस्तों, शेयर बाजार में इनसाइडर ट्रेडिंग और घपले-घोटाले की खबरें तो आपने बहुत सुनी और पढ़ी होंगी लेकिन अब क्रिप्टोकरेंसी में इनसाइडर ट्रेडिंग का मामला प्रकाश में आया है. यह क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में पहला इनसाइडर ट्रेडिंग का मामला होगा.

Shalini Chaurasia

Published

on

पढ़िए पूरी कहानी पहले क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग की | इशान वाही, निखिल वाही गिरफ्तार, समीर रमानी फरार ishan-wahi-arrested-crypto-insider-trading

दोस्तों, शेयर बाजार में इनसाइडर ट्रेडिंग और घपले-घोटाले की खबरें तो आपने बहुत सुनी और पढ़ी होंगी लेकिन अब क्रिप्टोकरेंसी में इनसाइडर ट्रेडिंग का मामला प्रकाश में आया है. यह क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में पहला इनसाइडर ट्रेडिंग का मामला होगा. क्या हैं पूरी कहानी पहले क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग की ?

यह मामला अमेरिका में सामने आया है. इसमें दो भारतीय भाई इशान और निखिल वाही और समीर रमानी के क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग में शामिल होने का आरोप लगा है.

क्या होती हैं इनसाइडर ट्रेडिंग

जब कंपनी के कर्मचारी या उनके करीबी अवैध तरीके से कंपनी के शेयर्स की खरीद-बिक्री करके मुनाफा कमाते हैं, तो इसे इनसाइडर ट्रेडिंग कहते हैं. यह खासकर कंपनी की किसी गोपनीय जानकारी के आधार पर किया जाता है और सिर्फ खास कर्मचारियों को पता होता है कि किन्ही नए कारणों से आने वाले समय में कंपनी के शेयर्स के दाम बढ़ेंगे और वे इस स्थिति का स्वयं या अपने माध्यम से अपने किसी करीबी को एडवांस में फायदा उठाते हैं.

जब कंपनी का कोई एग्जिक्यूटिव या उसके मैनेजमेंट से जुड़ा कोई आदमी उसकी (कंपनी की) अंदरूनी जानकारी होने के आधार पर शेयर खरीद या बेचकर गलत ढंग से मुनाफा कमाता है तो इसे इनसाइडर ट्रेडिंग कहा जाता है.

cryptocurrency pandit whatsapp Whatsapp GroupJoin Now
cryptocurrency pandit telegram Telegram ChannelJoin Now
cryptocurrency pandit discord Discord ServerJoin Now
cryptocurrency pandit facebook Facebook PageLike Page
cryptocurrency pandit youtube Youtube ChannelSubscribe

यह पारम्परिक रूप से स्टॉक मार्केट में होता हैं जो की बहुत गहरे तरीके से Regulated या नियमित होते हैं

attorney-Damian-williams-crypto-insider-trading-wall-street अटॉर्नी डेमियन विलियम्स SEC फ़ेडरल कॉइनबेस इनसाइडर ट्रेडिंग comment क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग
पढ़िए पूरी कहानी पहले क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग की | इशान वाही, निखिल वाही गिरफ्तार, समीर रमानी फरार, 8 करोड़ का घोटाला 44

क्या क्रिप्टोकरेंसी में इनसाइडर ट्रेडिंग संभव हैं ?

जी हा दोस्तों, अब यह मामला क्रिप्टो मार्केट में भी सामने आया हैं जिसे यहाँ विस्तार से दिया जा रहा हैं

पृष्ठभूमि

कॉइनबेस हमेशा से दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंजों में से एक रहा हैं। कॉइनबेस के यूजर्स कॉइनबेस के अपने ऑनलाइन खातों के माध्यम से विभिन्न क्रिप्टो संपत्तियों (Crypto Assets) का अधिग्रहण, विनिमय और बिक्री कर सकते हैं जैसा की अन्य एक्सचेंजों में होता हैं । समय-समय पर, कॉइनबेस नई क्रिप्टो संपत्तियों को लिस्ट करता हैं, जिन्हें वहा Trade किया जाता हैं.

सामान्यतः इस समाचार से कि एक्सचेंज फलां क्रिप्टोकरंसी को लिस्ट करने जा रहा हैं उसका बाजार मूल्य आमतौर पर लिस्टिंग की घोषणा के बाद काफी बढ़ जाता हैं। इसलिए, सभी एक्सचेंज सामान्यतः ऐसी जानकारी को पूरी तरह से गोपनीय रखते हैं और अपने कर्मचारियों को उस जानकारी को दूसरों के साथ साझा करने से प्रतिबंधित करते हैं, जिसमें उस जानकारी के आधार पर व्यापार करने वाले किसी भी व्यक्ति को “टिप” प्रदान करना शामिल हैं। क्या हैं पूरी कहानी पहले क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग की ?

इशान वाही और कॉइनबेस

इशान वाही को अक्टूबर 2020 में कॉइनबेस के Asset Listing Team में शामिल किया गया था

इस रोल में इशान को कॉइनबेस द्वारा कौन सी करंसी लिस्ट किया जाना हैं उसकी तिथि और कब से Trade शुरू होने वाला हैं आदि गोपनीय जानकारी आराम से मिलती थी

अगस्त 2021 से मई 2022 तक इशान वाही को, कॉइनबेस (Coinbase) के एक निजी कॉइनबेस के मैसेजिंग चैनल में जोड़ा गया था जो बेहद गोपनीय मामलों को कुछ कर्मचारियों के बीच चर्चा हेतु बनाया गया था और इसी उद्देश्य हेतु स्पष्ट रूप से आरक्षित था।

पढ़िए पूरी कहानी पहले क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग की | इशान वाही, निखिल वाही गिरफ्तार, समीर रमानी फरार first-cryptocurrency-insider-trading-case-coinbase क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग

यह चैनल कॉइनबेस में क्रिप्टो लिस्टिंग प्रक्रिया पर चर्चा करने के लिए बनाया गया था। इसमें क्रिप्टो लिस्टिंग के बारे में सभी अंतरंग विवरण थे जैसे कि लिस्टिंग की तारीख, घोषणा की तारीख और अन्य समय सीमाएं। इस ग्रुप को बेहद गोपनीय रखा गया था क्योंकि इसे शीर्ष पदानुक्रम में कई लोगों के साथ साझा भी नहीं किया गया था

यह क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में पहला इनसाइडर ट्रेडिंग का मामला होगा.

इन लोगों ने एक मिलियन डॉलर यानी लगभग 8 करोड़ रुपए अवैध तरीके से कमाए हैं.

आरोपी वाही बंधुओं को सिएटल में गिरफ्तार किया गया.

कॉइनबेस एक्सचेंज से जुड़ा मामला हैं क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग- क्या हैं चार्ज ?

न्यूयॉर्क के दक्षिणी जिले के लिए संयुक्त राज्य अटॉर्नी डेमियन विलियम्स और फेडरल जांच ब्यूरो के न्यूयॉर्क फील्ड ऑफिस के असिस्टेंट डायरेक्टर-इन-चार्ज माइकल जे. ड्रिस्कॉल ने गुरुवार को इस केस को खोलने की घोषणा की. इस मामले में वाही ब्रदर्स और रमानी पर कपट का षड्यन्त्र और क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग का चार्ज लगा है. इन तीनों ने कॉइनबेस एक्सचेंज पर लिस्ट होने वाली क्रिप्टो एसेट को लेकर गुप्त सूचनाएं लीक की.

कितने और कौन से टोकन की इनसाइडर ट्रेडिंग से वाही बंधुओ और समीर रमानी ने लाभ कमाया ?

25 अलग-अलग क्रिप्टोकरेंसी में इनसाइडर ट्रेडिंग

इनमे से मुख्य निम्न हैं 👇

कितना अवैध लाभ कमाया?

इस मामले में आरोपियों ने कम से कम 25 अलग-अलग क्रिप्टो एसेट में अवैध व्यापार किया और लगभग 1.5 मिलियन अमरीकी डालर का अवैध प्रॉफिट कमाया है.

कैसे इस क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग का पर्दाफाश हुआ ?

12 April 2022 को एक ट्विटर अकाउंट जो क्रिप्टो समुदाय में अच्छी तरह से जाना जाता है, जिसमें 700K+ Followers हैं, ने ट्वीट किया कि उसने एक एथेरियम ब्लॉकचैन वॉलेट की पहचान की थी, जिसने कॉइनबेस एसेट लिस्टिंग पोस्ट में प्रदर्शित होने वाले एक टोकन को उस पोस्ट से लगभग 24 घंटे पहले सैकड़ों-हजारों डॉलर के टोकन खरीदे थे।

https://twitter.com/cobie/status/1513874972552355846

बाद में पता चला यह खरीद समीर रमानी द्वारा किया गया था

13 अप्रैल 2022 को कॉइनबेस ने इस ट्वीट का रिप्लाई देते हुए लिखा कि

कॉइनबेस ने क्या कार्यवाही की

11 मई 2022 को कॉइनबेस के सुरक्षा संचालन निदेशक (Coinbase’s director of security operations) ने ईशान वाही को एक मीटिंग के लिए एक मेल भेजा। बैठक का मुख्य एजेंडा कंपनी की क्रिप्टो लिस्टिंग प्रक्रिया के बारे में चर्चा करना था।

 16 मई 2022 को इशान ने मीटिंग आमंत्रण को स्वीकार किया और लिखा की वह मीटिंग में उपस्थित रहेगा

इशान वाही द्वारा देश छोड़ने की कोशिश

रविवार, मई 15, 2022 की शाम को, ईशान वाही ने भारत के लिए एकतरफा उड़ान हेतु टिकट खरीदी, जो अगले दिन कॉइनबेस द्वारा मीटिंग किए जाने से कुछ समय पहले प्रस्थान करने वाली थी। उड़ान में सवार होने से पहले, ईशान वाही ने कॉइनबेस के कर्मचारियों को झूठ ही में बताया कि वह पहले ही भारत के लिए प्रस्थान कर चुके हैं, जबकि वह नहीं गए थे।

उड़ान की बुकिंग और उसके निर्धारित प्रस्थान के बीच के घंटों में, ईशान वाही ने निखिल वाही और रमानी को कॉइनबेस की जांच के बारे में कॉल और टेक्स्ट किया, और उन दोनों को 11 मई, 2022 को कॉइनबेस के सुरक्षा संचालन निदेशक से प्राप्त संदेशों की एक तस्वीर भेजी।

16 मई, 2022 की भारत की उड़ान में सवार होने से पहले, ईशान वाही को कानून प्रवर्तन ने रोक दिया और देश छोड़ने से रोक दिया और पाया कि वह अपने साथ तीन बड़े सूटकेस, सात इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, दो पासपोर्ट, पहचान के कई अन्य रूप, यू.एस. मुद्रा में सैकड़ों डॉलर, वित्तीय दस्तावेज, और अन्य Personal Effects लिए हुए थे।

इशान और निखिल वाही गिरफ्तार


सिक्यूरिटी एंड एक्सचेंज कमिशन ने गुरुवार को इन तीन लोगों के खिलाफ क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग के आरोपों की घोषणा की. वाही बंधुओं को गुरुवार सुबह सिएटल में गिरफ्तार किया गया. इनको वाशिंगटन के जिला कोर्ट में पेश किया जाएगा. एसईसी कम्प्लेन में कहा गया है कि माना जा रहा है कि रमानी वर्तमान में भारत में है. रमानी और ईशान वाही ने एक ही समय में ऑस्टिन में टेक्सास विश्वविद्यालय में पढ़ाई की और घनिष्ठ मित्र बने.

पढ़िए पूरी कहानी पहले क्रिप्टोकरेंसी इनसाइडर ट्रेडिंग की | इशान वाही, निखिल वाही गिरफ्तार, समीर रमानी फरार ishan-wahi-arrested-crypto-insider-trading

केस के मुताबिक, इस इनसाइडर ट्रेडिंग से इन लोगों ने एक मिलियन डॉलर यानी लगभग 8 करोड़ रुपए अवैध तरीके से कमाए हैं, 32 वर्षीय ईशान वाही (Ishan Wahi) और उसका 26 वर्षीय भाई निखिल वाही (Nikhil Wahi) भारत के नागरिक हैं और सिएटल में रह रहे थे. वहीं, उनका इंडियन अमेरिकन दोस्त 33 वर्षीय समीर रमानी ह्यूस्टन में रहता है.

CryptoCurrency-Pandit-Logo

कॉइनबेस की प्रतिक्रिया

कॉइनबेस की तरफ से इसके सीईओ ब्रायन आर्मस्ट्रांग ने एक लंबी ब्लॉग पोस्ट से कॉइनबेस की स्थिति को साफ़ किया

कॉइनबेस, कंपनी की Sensitive जानकारी के अनुचित उपयोग के आरोपों को बहुत गंभीरता से लेता है, जैसा कि इस मामले की हमारी तीव्र जांच से पता चलता है। फिर से, हम इस तरह के कदाचार के लिए जीरो टॉलरेंस रखते हैं और किसी भी कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई करने में संकोच नहीं करेंगे ।

एक बार जब हमने अपने संदेह पर विश्वास करने के लिए पर्याप्त सबूत एकत्र कर लिए, तो हमने न्याय विभाग (DoJ) को इन व्यक्तियों के बारे में जानकारी प्रदान की और हमारे कर्मचारी (इशान वाही) को कंपनी से निकाल दिया।

हम समझते हैं कि एसईसी (SEC) ने आज इस गलत काम से संबंधित प्रतिभूति धोखाधड़ी (Security Fraud) के आरोप अलग से दायर किए हैं। डीओजे (DoJ) ने प्रतिभूति धोखाधड़ी का आरोप नहीं लगाया। हमारे मंच पर सूचीबद्ध कोई भी संपत्ति प्रतिभूतियां नहीं है, No assets listed on our platform are securities और SEC की कार्यवाही आज की उचित कानून प्रवर्तन कार्रवाई से एक ध्यान हटाने की कार्यवाई है

ईशान वाही पर वायर फ्रॉड की साजिश के दो और वायर फ्रॉड के दो मामले दर्ज हैं. इनमें में से प्रत्येक में अधिकतम 20 वर्ष की सजा का प्रावधान है.

इसी तरह, निखिल वाही और रमानी पर वायर फ्रॉड की साजिश का एक और वायर फ्रॉड का एक आरोप लगाया गया है, जिनमें से प्रत्येक में अधिकतम 20 वर्ष की सजा का प्रावधान है.

आरोपियों ने अपना जुर्म क़ुबूल नहीं किया

मीडिया ने बताया कि 32 वर्षीय ईशान वाही, क्रिप्टोक्यूरेंसी द कॉइनबेस ग्लोबल प्लेटफॉर्म के पूर्व उत्पाद प्रबंधक, ने अपने 26 वर्षीय भाई निखिल वाही के साथ संघीय इनसाइडर ट्रेडिंग के आरोपों के लिए दोषी नहीं होने का अनुरोध किया है।

ईशान वाही का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील ने कहा कि उनके खिलाफ आरोपों को “खारिज” किया जाना चाहिए क्योंकि इनसाइडर ट्रेडिंग में प्रतिभूतियों या वस्तुओं को शामिल करना चाहिए और यह मामला रिपोर्टों के अनुसार नहीं है।

इस खबर से हम जुड़े हुए हैं जैसे ही नए अपडेट आते हैं हम आप तक पहुचाएंगे

Continue Reading

Cybersecurity and Crypto Safety

SEC Warns Against Crypto Investment Risks

One of the forces not to be ignored as a crypto investor is the Security and Exchange Commission, SEC. SEC Warns Against Crypto Investment Risks, Read Why

Shalini Chaurasia

Published

on

SEC Warns Against Crypto Investment Risks, Read Why

One of the forces not to be ignored as a crypto investor is the Security and Exchange Commission, SEC. The body does everything it can to either regulate crypto or scrap the industry if possible Time to time SEC warns investors for inherent risk.

  • Ripple has been battling it out with SEC since 2020
  • Binance have faced SEC scrutiny this 2022 as the commission commenced investigations on BNB
  • The chairman is unhappy with the continuing bear market in the sector. As such, he warns investors to be careful of crypto investment.
  • SEC plans to work with many crypto exchanges, lending platforms, and other operators to ensure that investors are protected.

compressjpg20220720 0815392055345997486048853
SEC Warns Against Crypto Investment Risks 48

Now, the chairman of Wall Street’s top regulator has said the Securities and Exchange Commission (SEC) will consider exempting crypto firms from some regulatory requirements in an attempt to tame the crypto “Wild West.”

wpDataTable with provided ID not found!

“There’s a potential path forward,” SEC chair Gary Gensler said during an interview with Yahoo Finance in comments that point to how the SEC could work with the crypto industry going forward and adding the agency has the authority to give exemptions to certain regulatory and disclosure requirements. “I’ve said to the industry, to the lending platforms, to the trading platforms: ‘Come in, talk to us.'”

XRP And BNB SEC Controversy

Unfortunately, many digital operators, including network founders, exchange firms, and even top management in the space, have had issues with the commission.

cryptocurrency pandit whatsapp Whatsapp GroupJoin Now
cryptocurrency pandit telegram Telegram ChannelJoin Now
cryptocurrency pandit discord Discord ServerJoin Now
cryptocurrency pandit facebook Facebook PageLike Page
cryptocurrency pandit youtube Youtube ChannelSubscribe

For instance, Ripple has been battling it out with SEC since 2020. Whether XRP is in fact a security is subject to one of the most intense ongoing court battles in crypto. The SEC sued Ripple in December 2020, accusing the company of failing to register roughly $1.4 billion worth of XRP as securities. Ripple, however, maintains XRP is a utility token for payments, not a speculative asset, and that it was issued prior to Ripple’s founding.

In addition, other operators such as Binance have faced SEC scrutiny this 2022 as the commission commenced investigations on BNB. According to the commission, the aim is to determine if the token is unregistered

Apart from these two, many others face one issue from the commission in their bid to protect investors against losses. So, no one is surprised at the SEC chairman’s recent speech that crypto investors should be careful of the risks in the sector.

Continuing Bear Market is a Big Concern

Gary Gensler is responsible for creating regulations aiming to protect investors’ interests. The chairman is unhappy with the continuing bear market in the sector. As such, he warns investors to be careful of crypto investment.

 In Gary Gensler’s speech, the SEC has issued 23 regulations for the digital asset industry and is awaiting approvals.

Early in February 2022, Gensler disclosed that both SEC and CFTC (Commodity Futures Trading Commission) are working together to achieve crypto regulation. He also stated that

SEC plans to work with many crypto exchanges, lending platforms, and other operators to ensure that investors are protected.

Investor Should be more Educated

According to Gensler, investors operating in the crypto industry should be made to understand the risks in their investments. He reiterated that they should understand the difference between equity offerings and asset-backed securities. By disclosing the differences clearly, investors can decide whether to invest or not.

Gary Gensler, who has previously branded the bitcoin and crypto market a "Wild West" and this week repeated a warning that many crypto companies are "non-compliant," said the SEC has "robust authorities from Congress to use our exemptive authorities that we can tailor investor protection."
SEC Warns Against Crypto Investment Risks 49
Regarding the general public, they should be protected whether they’re buying digital coins as asset-backed security or security. He also disclosed that the US SEC allows investors in America to take risks. But operators should disclose all information, whether selling financial assets or raising money from the public.

Given the recent losses and bankruptcy in the crypto market, these statements couldn’t have been more appropriate and timely. The crypto community has experienced a lot since the market crashed till now. Many exchanges even stopped investors from withdrawing their funds to prevent insolvency.

Regarding all these issues, Gary Gensler opines that the lack of compliance in the sector contributed to the losses.

He also stated that

Bitcoin is not a security since no entity issued it. Therefore, the position of the SEC chairman about the losses is understandable.

From all indications, many cryptos that crashed were not compliant with regulations. Also, there was no adequate disclosure by their operators. As such, people invested money in such firms without proper funds insurance.

Bitcoin and crypto market a “Wild West”

Gensler, who has previously branded the bitcoin and crypto market a “Wild West” and this week repeated a warning that many crypto companies are “non-compliant,” said the SEC has “robust authorities from Congress to use our exemptive authorities that we can tailor investor protection.”

Earlier this year, the SEC found crypto lender BlockFi to be an unregistered investment company, reaching a settlement of $100 million.

In May, the SEC announced it had doubled the number of staff in its Crypto Assets and Cyber Unit as it tries to get a handle on the red-hot crypto market that last year ballooned to an eye-watering $3 trillion value before deflating over the last few months due to the Federal Reserve’s increasingly hawkish stance and the collapse of the terraUSD stablecoin along with its support cryptocurrency luna.

Gensler said…

“The public is largely unprotected due to non-compliance in this space The public benefits by knowing full and fair disclosure and that somebody is not lying to them. You know, basic protections.”


Continue Reading

Crypto Hindi News

टिम ड्रेपर कौन है? क्या 2024 में बिटकॉइन 250,000 डॉलर तक पहुंच जाएगा? टिम ड्रेपर कौन है? क्या 2024 में बिटकॉइन 250,000 डॉलर तक पहुंच जाएगा?
Bitcoin BTC News5 months ago

टिम ड्रेपर कौन है? क्या 2024 में बिटकॉइन 250,000 डॉलर तक पहुंच जाएगा?

टिम ड्रेपर कौन है- उद्यमी टिम ड्रेपर बिटकॉइन के बारे में उत्साहित हैं, भविष्यवाणी करते हैं कि इसकी कीमत $...

Ivan Bianco Livestream-क्रिप्टो यूट्यूबर ने लाइव स्ट्रीम में गलती से दिखाए प्राइवेट कुंजिया, किसी ने चुराए $60,000 Ivan Bianco Livestream-क्रिप्टो यूट्यूबर ने लाइव स्ट्रीम में गलती से दिखाए प्राइवेट कुंजिया, किसी ने चुराए $60,000
World Crypto News9 months ago

Ivan Bianco Livestream-क्रिप्टो यूट्यूबर ने लाइव स्ट्रीम में गलती से दिखाए प्राइवेट कुंजिया, किसी ने चुराए $60,000

Ivan Bianco Livestream-क्रिप्टो यूट्यूबर ने लाइव स्ट्रीम में गलती से दिखाए प्राइवेट कुंजिया, किसी ने चुराए $60,000 बाद में किये...

CryptoCurrency turkey adoption CryptoCurrency turkey adoption
Crypto News9 months ago

तुर्की में क्रिप्टो क्रांति – LIRA VS Bitcoin War

तुर्की में क्रिप्टो क्रांति - LIRA VS Bitcoin War - तुर्की में क्रिप्टो उपयोग के बारे में Kucoin सर्वेक्षण BITCOIN...

xrp to 500 dollors price prediction shannon thorpe xrp to 500 dollors price prediction shannon thorpe
Crypto News10 months ago

OMG ! XRP Short term Price Prediction $100 se $500 अगले 7 से 8 महीनो में

XRP Short term Price Prediction $100 se $500 अगले 7 से 8 महीनो में my price prediction is anywhere from...

algaba crypto news algaba crypto news
Crypto News10 months ago

कौन हैं फर्नांडो पेरेज़ अल्गाबा? क्यों और किसने की उनकी हत्या?

कौन हैं फर्नांडो पेरेज़ अल्गाबा ? क्रिप्टो प्रभावित फर्नांडो पेरेज़ अल्गाबा की दुखद मौत ने अर्जेंटीना को सदमे में डाल...

George Forsyth killed George Forsyth killed
Crypto News12 months ago

जॉन फोर्सिथ John Forsyth-Crypto News क्रिप्टो करोडपति की हत्या में नया मोड़- जॉन फोर्सिथ का अपहरण हुआ था

जॉन फोर्सिथ John Forsyth Crypto News परिवार का दावा है कि फोर्सिथ ने उन्हें चेतावनी दी थी कि वह "खतरे...

Bitcoin and meme tokens Bitcoin and meme tokens
Bitcoin BTC News12 months ago

Bitcoin के लिए मुश्किल बन रहे सट्टेबाजी वाले मीम टोकन्स

क्रिप्टो मार्केट के जानकारों का मानना है कि फ्रॉग के कार्टून से जुड़े Pepe जैसे मीम टोकन्स से नेटवर्क में...

elon musk pepe coin meme token e1687122919830 elon musk pepe coin meme token e1687122919830
Altcoin News12 months ago

PEPE Coin में इतनी भारी गिरावट क्यूँ देखी जा रही हैं? It tumbles 65% in last 30 days.

PEPE Coin में इतनी भारी गिरावट क्यूँ देखी जा रही हैं? Over the past 24 hours, PEPE tumbled more than...

elon musk dogecoin insider trading e1687122968688 elon musk dogecoin insider trading e1687122968688
Altcoin News12 months ago

डॉगकोइन के साथ इनसाइडर ट्रेडिंग के लिए एलन मस्क के खिलाफ मुकदमा दायर Musk Dogecoin and Insider Trading

Musk Dogecoin and Insider Trading टेक टाइकून और दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलन मस्क पर कई मीम सिक्का निवेशकों...

Predictions

Trending